NEWS TODAY- AUGUST 31, SUNDAY, 2014.

 

31augClipboard01

33

22

157 Graduate Teachers Posts- RMSA Recruitment 2014 www.rmsaassam.in Last Date 10th October 2014

http://rpscdata.com/2014/08/157-graduate-teachers-posts-rmsa.html

745 Graduate Trainee Posts ONGC Recruitment 2014 www.ongcindia.com Last Date January 2015

http://rpscdata.com/2014/08/745-graduate-trainee-posts-ongc.html

bn

खुशखबरी, राजस्थान में जल्द होगी हजारों शिक्षकों की भर्ती माउंट आबू।

 

शिक्षामंत्री कालीचरण सराफ ने कहा कि शीघ्र ही शिक्षकों के रिक्तपदों को भरने के लिए नई भर्ती की जाएगी।

सराफ शुक्रवार को यहां सर्किट हाउस में मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य में एक लाख से अधिक शिक्षकों की कमी को देखते हुए टेट समाप्त कर शीघ्र ही तीस हजार शिक्षकों की भर्ती की जाएगी।

शेष कमी एक वर्ष के अंदर पूरी की जाएगी। शिक्षकों के तबादले के लिए विधायकों को कोई डिजायर नहीं दी है। समानीकरण को देखते हुए आवश्यकतानुसार तबादले होंगे। बिना किसी भेदभाव के यह कार्य होगा।

सराफ ने कहा कि फीस के मामले में निजी विद्यालयों की मनमानी कतई चलने नहीं दी जाएगी। फीस निर्घारण समिति की तय फीस नहीं मानने वालों की मान्यता निरस्त की जाएगी।

उन्होंने कहा कि बिजली संकट के चलते बिजली कटौती से पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू को मुक्त रखा जाएगा। यहां आने वाले देशी-विदेशी सैलानियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए 24 घंटे बिजली आपूर्ति जारी रहेगी। -

3,475 Comments

  1. कल से बदलेगा स्कूलों का समय
    Sun, 31 Aug 2014 05:49:39 | Jodhpur
    Hindi News
    Tags : 0
    जोधपुर। शिक्षा निदेशालय ने सरकारी स्कूलों के
    समय में सोमवार से परिवर्तन किया है। उपनिदेशक
    (माध्यमिक) गजरा चौधरी ने बताया कि एक
    पारी विद्यालयों का संचालन समय सुबह 10
    बजे से शाम 4 बजे तक रहेगा। दो पारी के
    विद्यालयों का समय सुबह 7.30 बजे से शाम 5.30 बजे
    तक (प्रत्येक पारी का स्कूल समय 5 घंटे )
    रहेगा। माह सितंबर में प्रथम, द्वितीय व
    तृतीय समूह
    की विद्यालयी जिला स्तरीय
    खेलकूद प्रतियोगिताओं के पश्चात प्रथम व
    द्वितीय समूह
    की राज्यस्तरीय प्रतियोगिताएं
    आयोजित की जाएंगी।
    1 व 2 सितंबर को स्कूल स्तर पर व 17 से 20 सितंबर
    तक जिला स्तरीय विज्ञान एवं जनसंख्या व
    विकास शिक्षा मेला आयोजित किया जाएगा।
    इसी माह प्राथमिक विद्यालयों के
    विद्यार्थियों के लिए 11 से 14 सितंबर तक ब्लॉक स्तर व
    18 से 20 सितंबर तक जिला स्तर पर
    स्कूली खेलकूद
    प्रतियोगिता होंगी। 26-27 सितंबर
    को शिक्षकों के जिला स्तरीय शैक्षणिक
    सम्मेलन के लिए तिथि निर्घारित की गई है।
    इसी माह 15 से 20 सितंबर के मध्य
    एसएसए का प्राथमिक व उच्च प्राथमिक शालाओं के लिए
    शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए संबलन कार्यक्रम
    होगा। वहीं निदेशालय अक्टूबर का पंचाग
    अलग से जारी करेगा।
    समय परिवर्तन का विरोध
    राजस्थान शिक्षक संघ (राधाकृष्णन) ने 1 सितंबर से स्कूल
    समय में परिवर्तन किए जाने का विरोध किया है। प्रदेश
    उपाध्यक्ष इन्द्रविक्रमसिंह चौहान का कहना है
    कि अभी गर्मी के तेवर बरकरार
    हैं। ऎसे में समय परिवर्तन कर बेवजह
    विद्यार्थियों को परेशान किया जाएगा।
    जबकि पिछली बार 16 सितंबर से समय
    परिवर्तन किया गया था।

  2. Bundi or pali ke Tgt 2013 ke students 5 September se hunger strike par all students se request hai WO ghar par rahe or etv per hamari news watching or blog par comment kre bundi mai kya chal raha hai

  3. रसूखदार
    शिक्षकों की मनमानी अब
    और नहीं
    Sun, 31 Aug 2014 03:23:28 | Jaipur
    Hindi News
    Tags : Jaipur news Rajasthan news Hindi news
    जयपुर। शिक्षण व्यवस्था के नाम पर चहेते
    शिक्षकों को मनचाहे स्कूल में लगाने के खेल पर
    शिक्षा विभाग ने रोक लगा दी है। विभाग ने
    सभी ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों को पाबंद
    किया है कि अब वे अपने स्तर पर
    किसी भी शिक्षक का शिक्षण
    व्यवस्था से जुड़ा काम नहीं कर पाएंगे।
    जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश
    की पालना सुनिश्चित
    करानी होगी।
    चरमराई शिक्षण व्यवस्था
    विभागीय सूत्रों के मुताबिक शिक्षण
    व्यवस्था के नाम पर लम्बे समय से कई शिक्षक मूल
    पदस्थापित स्कूल के बजाय दूसरे स्कूलों में कार्यरत हैं।
    इसके चलते मूल पदस्थापित स्कूल में शिक्षण
    व्यवस्था चरमराती गई। इसमें जयपुर,
    अजमेर, दौसा, सीकर, उदयपुर,
    बीकानेर सहित अन्य जिले शामिल हैं।
    जांच में सामने आई हकीकत
    अपने चहेतों को मनचाहे स्कूलों में लगाने
    की कई बार जानकारी सामने आने
    पर भी विभागीय अफसरों से
    मिलीभगत के कारण कार्रवाई
    नहीं हो सकी। कार्यालय
    निदेशक प्रारंभिक शिक्षा, बीकानेर ने
    इसकी जांच
    की तो स्थिति सही पाई गई।
    हालांकि, शिक्षा विभाग ने ऎसे रसूखदार शिक्षकों के नाम
    बताने से इनकार कर दिया। बताया जा रहा है कि निदेशालय
    इस मामले में जिम्मेदार ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों पर कार्रवाई
    करने की तैयारी कर रहा है।
    यूं चलता है रसूख
    शिक्षा विभाग में यूं तो तबादलों पर फिलहाल रोक है,
    लेकिन शिक्षण व्यवस्था के लिए शिक्षकों को संबंधित
    स्कूल में भेजा जाता रहा है। यह व्यवस्था कुछ
    माह के लिए
    ही प्रभावी रहती है।
    पिछले दिनों ही निदेशालय ने एक बार फिर
    इसी तरह के आदेश जारी किए
    थे, लेकिन कई रसूखदार शिक्षक
    इसी व्यवस्था की आड़ में
    मनचाहे स्कूल में चले जाते हैं और तय मियाद
    की बजाय कई साल तक
    उसी स्कूल में बने रहते आए हैं।
    अब यह होगा
    इस व्यवस्था के लिए अब निदेशक से
    अनुमति लेनी होगी। इसके
    बिना किसी भी शिक्षक को शिक्षण
    व्यवस्था के तहत नहीं लगाया जा सकेगा।
    जो ब्लॉक शिक्षा अधिकारी इसमें सुधार
    नहीं करेंगे, उनके खिलाफ अनुशासनात्मक
    कार्यवाही शुरू होगी।
    इसकी जिम्मेदारी जिला शिक्षा अधिकारी की भी रहेगी।
    …ताकि सुधरे व्यवस्था
    चहेते शिक्षकों पर मेहरबानी पर लगाम
    लगाने और शिक्षण व्यवस्था में सुधार के लिए
    ऎसा किया गया है।
    जिला शिक्षा अधिकारियों को इसकी पालना सुनिश्चित
    करानी है। कमलेश शर्मा, उप निदेशक
    (प्रारंभिक शिक्षा), शिक्षा विभाग

  4. Tgt 2013 ke result or ekikran ka koi bhi link nhi hai netaji to aap hame gumrah mat kro pahle bhi aap Tgt ka case bigad chuke ho ab aap ghar par reet ki preparation kro hum result jari karane ki preparation karate hai all students Tgt or 60% tet

  5. पर्चा खरीदकर 300
    अभ्यर्थी बने पटवारी,
    तीन परीक्षाओं में कमाए डेढ़
    करोड़
    Dainikbhaskar.com |
    Aug 31, 2014, 05:25:00 AM IST
    जयपुर. आरएएस-
    प्री परीक्षा का पर्चा लीक
    करने वाले यूपी के गिरोह से पूछताछ में चौंकाने
    वाला खुलासा सामने आया है। गिरोह के सदस्य आरके सिंह ने
    बताया है कि उन्होंने 2013 में हुई
    पटवारी भर्ती परीक्षा का पर्
    यह पेपर 300 लोगों को 1 लाख से लेकर 8 लाख रुपए में
    उपलब्ध कराया गया था। सूत्रों के अनुसार वे 300
    अभ्यर्थी परीक्षा में पास हो गए और
    उन्हें नियुक्ति भी मिल गई।
    अब एसओजी इन
    लोगों की सूची बना रहा है। इस
    सूची को राजस्व मंडल को भेजकर संबंधित
    अभ्यर्थियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई
    को कहा जाएगा। विदित रहे कि इस गिरोह ने आरएएस-
    प्री के पर्चे भी बेचे थे। जिन
    अभ्यर्थियों ने इन्हें खरीदा, उनमें से अधिकांश मेरिट
    में आए थे। जांच के बाद यह परीक्षा निरस्त कर
    दी गई थी। पटवार
    भर्ती परीक्षा 2013 में राजस्व मंडल
    की ओर से जिला स्तर पर कराई गई थी।
    तीन परीक्षाओं में कमाए डेढ़ करोड़
    पूछताछ में आरोपी आरके सिंह ने बताया कि उन्होंने
    इस परीक्षा का पर्चा अहमदाबाद की एक
    प्रिंटिंग प्रेस से लेकर दिया था। वह प्रेस से रिंकू नाम के
    व्यक्ति से पर्चा लेता था। पिछले डेढ़ साल में आरएएस
    प्री परीक्षा,
    एलडीसी और पटवार
    भर्ती परीक्षा के पर्चे बेचे गए।
    तीनों परीक्षाओं में उसने
    करीब 6 करोड़ रुपए कमाए। उसने राजस्थान में होने
    वाली परीक्षाओं के पर्चे
    लीक करने के लिए नेटवर्क तैयार कर रखा था।
    डीजीपी ओमेंद्र भारद्वाज ने
    बताया कि एसओजी ने आरएएस
    प्री परीक्षा का पेपर आउट करने वाले
    गैंग के सरगना रिंकू को छोड़कर
    सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। अब रिंकू
    की तलाश जारी है।
    एलडीसी परीक्षा मामले में
    भी दर्ज होगी एफआईआर
    एसओजी अब
    आरपीएससी की ओर से
    आयोजित
    एलडीसी परीक्षा का पर्चा ल
    करने के मामले में भी एफआईआर दर्ज करने
    वाली है। इस
    परीक्षा का अभी तक परिणाम
    नहीं आया है।
    ये परीक्षाएं विवादों में
    पटवारी भर्ती
    अप्रैल 2013 में हुई नियुक्ति दी
    आरएएस-प्री दिसंबर 13 में हुई रद्द
    करनी पड़ी
    एलडीसी भर्ती-
    परीक्षा सवालों में, रिजल्ट नहीं आया

  6. आवेदन मांगे, पर चयन करना भूले
    Sunday, August 31, 2014, 05:10 hrs IST |
    जयपुर। अल्पसंख्यक विभाग की ओर से
    पिछले वर्ष निकाली गई छह हजार
    मदरसा शिक्षा सहायकों की भर्ती अब
    तक अटकी हुई है। इसके लिए 24
    हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था, जिनका मेरिट के
    आधार पर चयन होना है। पिछले वर्ष जुलाई में
    आवेदन के बाद जब तक अनुमोदन के लिए मेरिट लिस्ट
    सरकार के पास पहुंची, तब तक आचार
    संहिता लागू हो गई थी। उसके बाद
    विधानसभा और फिर लोकसभा चुनाव के चलते
    भर्ती प्रक्रिया अटकी रही।
    अब उम्मीद
    की जा रही है कि नई सरकार
    इन भर्तियों का जल्द निस्तारण करेगी।
    जानकारों का कहना है कि इन भर्तियों के बाद
    मदरसों की स्थिति में सुधार आएगा। साथ
    ही बेरोजगार अल्पसंख्यकों को रोजगार मिलेगा।
    अब तक इस प्रक्रिया में ज्यादा कुछ
    हो नहीं पाया है। सरकार के पास
    भेजी गई थी लिस्ट, अब देखते
    हैं कब तक अप्रूवल मिलता है।
    ओपी शर्मा, कार्यवाहक निदेशक,
    अल्पसंख्यक मामलात विभाग
    पांच सितंबर को होने वाले मदरसा शिक्षकों के प्रदर्शन में
    इस भर्ती प्रक्रिया को तत्काल पूरा करने
    की मांग करेंगे। रोजगार देने के लिए सरकार
    को भर्ती प्रक्रिया को शीघ्र
    पूरा करना चाहिए, ताकि मदरसों के हालात में सुधार
    हो सके।
    अमीन कायमखानी, प्रदेशाध्यक्ष,
    राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ

  7. समानीकरण से खाली रहेंगे
    पीरियड
    Sunday, August 31, 2014, 03:10 hrs IST |
    जयपुर। समानीकरण के लिए लागू किए
    जा रहे नए मापदंडों से सरकारी स्कूलों में
    पढ़ाई के प्रति सप्ताह 60 कालांश
    खाली रह जाएंगे।
    अभी कक्षा 6 से 12 तक
    की पढ़ाई कराने के लिए स्कूलों में सप्ताह में
    336 कालांश लग रहे हैं। नए मापदंड आने के बाद
    शिक्षकों की संख्या कम होने से सप्ताह
    में 276 कालांश ही लग सकेंगे। इससे
    शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित
    होगी।
    शिक्षक प्रतिनिधियों का मानना है
    कि समानीकरण के नए मापदंडों से उच्च
    माध्यमिक स्कूलों के संचालन पर सवालिया निशान लग जाएगा।
    शिक्षकों के पद कम करने से कक्षा 6 से 12 तक में
    सप्ताह में लगने वाले 336 कालांश लेने के लिए पूरे
    शिक्षक ही नहीं होंगे और
    कालांश खाली रह जाएंगे। शिक्षा विभाग
    आर्थिक भार और व्याख्याताओं की कम
    संख्या के कारण कक्षा 11 और 12 में नामांकन 120 तक
    या कम होने पर स्कूल में
    व्याख्याता नहीं लगाएगा, जबकि इससे
    आर्थिक भार नहीं पड़ता।
    नए मापदंडों में यह उल्लेख
    नए मापदंडों में विभाग स्कूल में कक्षा 9 से 12 में नामांकन
    240 से कम होने पर 6 द्वितीय
    श्रेणी शिक्षक और कक्षा 6 से 12 तक कुल
    नामांकन 280 से क म होने पर एक तृतीय
    श्रेणी अध्यापक का अतिक्ति पद देगा।
    कक्षा 11 व 12 में 120 तक या कम नामांकन होने पर
    व्याख्याता नहीं मिलेगा, जबकि एक प्राचार्य
    का पद होगा। इस तरह इन कक्षाओं में विष्ाय पढ़ाने के
    लिए प्रधानाचार्य सहित आठ शिक्षक होंगे।
    अभी कक्षा 6 से 12 तक कालांशों का गणित
    n रोजाना 7 कक्षाएं, प्रति कक्षा में 8 कालांश,
    यानी सात कक्षाओं में रोजाना 56 कालांश।
    n सप्ताह में 6 दिन स्कूल चलने के हिसाब से
    सप्ताह में कुल कालांश 336 लगते हैं।
    व्याख्याताओं के रिक्त पदों को 4800 की ग्रेड-
    पे ले रहे द्वितीय
    श्रेणी शिक्षकों को पदोन्नत करके
    भरा जाना चाहिए, ताकि विभाग पर आर्थिक भार
    नहीं पड़े और स्कूलों को व्याख्याता मिल
    सकें। महेंद्र पांडे, प्रदेश महामंत्री,
    राजस्थान प्राथमिक माध्यमिक शिक्षक संघ
    इस तरह लगेंगे कालांश
    n प्रधानाचार्य रोजाना तीन कालांश के हिसाब
    से सप्ताह में 18 कालांश लेगा।
    n छह द्वितीय
    श्रेणी अध्यापक रोजाना छह कालांश के
    हिसाब से सप्ताह में कुल 216 कालांश लेंगे।
    n एक तृतीय श्रेणी अध्यापक
    रोजाना सात कालांश के हिसाब से सप्ताह में 42 कालांश
    लेगा।
    n सभी मिलकर सप्ताह में कक्षा 6 से 12
    में कुल 276 कालांश ही लें सकेंगे।
    आशीष शर्मा

  8. Ekikran or samanikran ek or netaji ka bhana hai result nahi aane ka sarkar chahati ke kaise bhi karke sarpancho ke election ho jaye or for Tgt second grade first grade sahbi vacancy radh kar du its true

  9. Pahle ek tet mai 52% k student ne Tgt 2013 ka case bigad diya usne bola June mai result fir bola July first week mai fir July last week fir August first week fir August last week aaj August finish to ekikran or samanikran par aagya sub kalicharn hai

Leave a Reply